Reuters

प्रधानमंत्री मोदी के एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू का एक बयान विपक्ष के निशाने पर है। दरअसल उन्होंने इंटरव्यू के दौरान पाकिस्तान के आतंकी कैंपों पर की गई एयर स्ट्राइक की कुछ आंतरिक बातें बताईं। उन्होंने कहा, 'मौसम अचानक खराब हो गया था। 12 बजे एक पल मन में आयाकि इस मौसम में क्या करेंगे। एक्सपर्ट्स का विचार आया कि तारीख बदल दी जाए। मुझे गोपनीयता का खयाल आया। मैंने सोचा कि इतने बादल हैं तो एक फायदा है कि हम रेडार से बच सकते हैं और बादलों का फायदा भी मिल सकता है। मैंने कहा ठीक है इसी मौसम में जाइए।'

प्रधानमंत्री के इस बयान के बाद विपक्ष ने कई सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने ट्वीट करके तंज कसा, 'जुमला ही फेकता रहा पांच साल की सरकार में, सोचा था क्लाउडी मौसम है, नहीं आऊंगा रेडार में।'

कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव ने कहा, 'मोदी जी, मुझे पता है कि आप भागने में एक्सपर्ट हैं। नीरव मोदी, विजय माल्या और मेहुल चौकसी कभी आपकी रडार में नहीं आए।' वहीं संजय झा ने कहा, 'अब जेटली एक ऐसा ब्लॉग लिखेंगे जिसमें बताएंगे कि किस तरह से बादलों में टाटा स्काई का रडार भी बड़े-बड़े विमानों को नहीं पकड़ सकता है।'

सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री का चुनावी फायदे के लिए इस तरह मिलिटरी की ऑपरेशन डीटेल देना गलत है और चुनाव आयोग को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने इसको लेकर चुनाव आयोग को एक पत्र भी लिखा है। येचुरी ने कहा, 'मोदी ने संवेदनशील मिलिटरी ऑपरेशन की गुप्त जानकारी दी है। यह केवल वोटर को प्रभावित करने के लिए किया गया है।'

महबूबा मुफ्ती ने भी पीएम मोदी को घेरते हुए कई सवाल पूछे। उन्होंने कहा, 'यह छुपा नहीं है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक तय लक्ष्य को साधने में नाकाम रही। क्या इस कारण हुआ क्योंकि प्रधानमंत्री ने वायु सेना की सलाह की उपेक्षा की और खराब मौसम में एयर स्ट्राइक करने की अनुमति दी।' उन्होंने लिखा,'बादल छाए रहने से जुड़ा तर्क शर्मनाक है। मुझे जरा बताएं, आरजी (कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी) को पप्पू क्यों कहा गया ?'

बीजेपी नेता और केंद्री मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ऐसी कोई जानकारी नहीं दी है जिससे कोई नुकसान हो। उमर अब्दुल्ला ने भी पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, 'पाकिस्तानी रेडार बादलों को भेद नहीं सकते। यह सामरिक जानकारी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो भविष्य के हवाई हमलों की योजना बनाते समय महत्वपूर्ण होगा।'